about_img

इन ग्रहों को साधने से होती है शेयर बाजार में कमाई

आपकी कुंडली में नव ग्रह और शेयर मार्किट का सम्बन्ध नव ग्रह, राहू-केतु, कुंडली और शेयर्स में ट्रेडिंग से फायदा या नुक्सान ज्योतिष का अच्छा ज्ञान होने के कारण मैंने अक्सर कुंडली और शेयर मार्किट में होने वाले फायदे और नुक्सान के संबंधों पर विशेष ध्यान दिया है. इसके साथ ही मुझे कई लोगों को स्टॉक मार्किट में ट्रेडिंग सिखाने का मौका मिला. इस दौरान मैंने उनकी कुंडली का भी अध्ययन किया और यह पाया की ग्रहों की दशा का असर, आपकी ट्रेडिंग और निवेशक के द्वारा लिए जाने वाले निर्णय पर पड़ता है. मेरे कई विद्यार्थियों और साथी ट्रेडर्स, निवेशकों ने कई बार ऐसे स्टॉक्स , फ्यूचर या आप्शन (पुट और कॉल) ख़रीदे और नुक्सान उठाया जिनमें की सामान्य दशा में वह कभी भी ट्रेड नहीं करते. ऐसे में मेरे पास सलाह के लिए आने पर मुझे उनकी कुंडली देखने का मौका मिला और यह पाया की ज्यादातर ऐसे निर्णयों के लिए उनकी ग्रह दशा जिम्मेदार थी. भारतीय ज्योतिष में नौ ग्रहों , सत्ताईस नक्षत्रों, बारह राशियों और कुंडली के बारह भावों या घर आदि की स्तिथियों के अनुसार व्यक्ति का भूत, भविष्य और वर्तमान का पता लगाया जा सकता है. यह सब आपस में अनगिनत प्रकार के सम्बन्ध स्थापित करते है, इसके साथ ही कुंडली में लग्न, भाव, दशा, महादशा आदि का विचार करके जातक (वह व्यक्ति जिसकी कुंडली का अध्ययन किया जा रहा है) को फायदा होगा या नुक्सान आदि का पता लगाया जा सकता है.


आप चाहे छत्तीस प्रकार की टेक्निकल एनालिसिस कर ले या दुनिया भर की रिसर्च, चार्ट्स आदि का अध्ययन कर ले, बड़े से बड़ा मार्किट एक्सपर्ट या टिप्स, सब चीज़े बेकार हो जाती है अगर आपकी किस्मत में पैसा नहीं लिखा है. जैसे ही आप ट्रेड लगाते है या निवेश करते है, आपका अपना अनुभव होगा की बाजार में ऐसी खबर आएगी जिससे की आपका शेयर या बाजार पलट जायेगा और आप घाटे या नुक्सान में चले जायेंगे. इसका एक कारण आपकी मनस्थिति है. नव ग्रहों का आपकी मनस्थिति पर ऐसा असर पड़ता है की आप मूर्खतापूर्ण निर्णय लेते है और बाद में पछताते है. मैने इस वेबसाइट में ज्योतिष पर भी जोर देना इसलिए आवश्यक समझा है क्योंकि इसका ट्रेडिंग, फायदा और घाटे पर काफी असर पड़ता है. इस सम्बन्ध में इस वेबसाइट पर कई पोस्ट लिखी गयी है या लिखी जायेंगी.

आगे भविष्य में ज्योतिष और कुंडली के अनुसार शेयर मार्किट में मुनाफ़ा या घाटा होने की संभावना और कुंडली के अनुसार किस प्रकार का शेयर या व्यवसाय जातक के लिए फायदेमंद होगा, इस पर पोस्ट लिखी जायेंगी. इसके लिए आपको ज्योतिष का सामान्य ज्ञान होना आवश्यक है जिसे सिखाने के लिए यहाँ पर पोस्ट लिखी गयी है या लिखी जाएगी. नव ग्रहों में राहू और केतु का विशेष स्थान है. इनका असर मनुष्य की मनोदशा पर पड़ता है. राहू अकस्मात धन प्राप्ति के लिए भी जाना जाता है. इसी प्रकार साढ़े साती में तीन चरण होते है. इनका भी आपके व्यापार में फायदा या नुक्सान से सम्बन्ध होता है. वैसे तो ज्योतिष से आयु, विवाह, सन्तान, घर, वाहन, शत्रु-मित्र, सगे-सम्बन्धी आदि कई चीजों के बारे में पता लगाया जा सकता है. लेकिन फिर भी यहाँ पर उसके व्यापार और शेयर मार्किट में ट्रेडिंग पर ज्यादा जोर दिया जायेगा. कौन सा शेयर या कमोडिटी में काम करना, फ्यूचर, पुट और कॉल आदि का काम कब फलीभूत या फायदेमंद होगा, इस पर पोस्ट लिखी जायेंगी. आप चाहे तो किसी अच्छे ज्योतिष से अपनी कुंडली बनवा सकते है या राय ले सकते है. आजकल इन्टरनेट पर भी आप अपनी कुंडली की जानकारी ले सकते है. कुंडली के लिए आपका जन्मस्थान, जन्म की तारीख और जन्म के सही समय का ज्ञान होना अति आवश्यक है. इसके द्वारा आप अपनी कुंडली बना या बनवा सकते है. वैसे इस सम्बन्ध में भी में यहाँ पर एक पोस्ट लिखूंगा. इस वेबसाइट पर शीघ्र ही ज्योतिष और कुडली तथा व्यापार और शेयर मार्किट के सम्बन्ध में काफी सारी पोस्ट लिखी जायेंगी. आशा करता हू की आप सबका सहयोग इस वेबसाइट को लोकप्रिय बनाने के प्राप्त होगा.