about_img

कौन सा व्यवसाय बदल सकता है आपकी किस्मत

जीवन में पैसा कमाना अत्यंत आवश्यक होता है। पैसे कमाना, परिवार का भविष्य सुरक्षित करना सबसे अहम होता है। कई लोग बिजनस को पैसा कमाने का सबसे आसान तरीका मानते हैं। पर ऐसा नहीं है कि कोई भी व्यक्ति बिजनेस में अपना हाथ आजमा सकता है। हर व्यक्ति के कुंडली ग्रह उसे व्यवसाय करने की अनुमति नहीं देते। कुंडली में मौजूद ग्रह हमें बताते हैं कि हमें कौन सा व्यवसाय करना चाहिए या नहीं, या व्यवसाय करना चाहिए या नहीं। कभी-कभी किसी ग्रह के असर से व्यवसाय संबंधित ग्रह गड़बड़ा भी जाता है। ऐसी दशा में कारोबार में उतार-चढ़ाव आने लगते हैं। इसलिए किसी भी कारोबार को शुरू करने से पहले ज़रूरी है कि आप कारोबार संबंधित ग्रहों की स्थिति और उसकी दशा के बारे में जान लें। आज हम आपको बताएंगे कि कुंडली के किस ग्रह से कौन सा व्यवसाय जुड़ा होता है।

जानिए किस तरह के व्यवसाय से कौन-सा ग्रह जुड़ा होता है

वस्त्रों का व्यवसाय

वस्त्रों का व्यवसाय वैसे तो बहुत सारे ग्रहों से संबंध रखता है, लेकिन मुख्य रूप से यह व्यवसाय शुक्र ग्रह का है। यदि आपकी कुंडली में शुक्र बलवान है तो वस्त्रों का व्यवसाय आपके लिए लाभकारी होगा।

खाने-पीने की चीजों का व्यवसाय

अनाज का व्यवसाय मुख्य रूप से बृहस्पति से जुड़ा होता है। पके हुए भोजन जैसे रेस्टोरेंट्स, कैफे आदि के व्यवसाय के पीछे शुक्र की भूमिका होती है। वहीं जलीय खाद्य के पीछे मुख्य रूप से चन्द्रमा होता है। ये तीनों ग्रह यदि आपका साथ दें तो आप खानो-पीने के व्यवसाय से लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

जमीन, निर्माण या ठेकेदारी का व्यवसाय

महिलाओं से जुड़ा कोई भी व्यवसाय शुद्ध रूप से शुक्र ग्रह से संबंधित होता है। हालांकि कभी-कभी इसमें चन्द्रमा की भूमिका भी नजर आती है। यदि आपकी कुंडली में शुक्र ग्रह अच्छी स्थिति में है तो आप निश्चित रूप से महिलाओं से जुड़े व्यापार जैसे सौंदर्य प्रसाधन की बिक्री, ब्यूटी पार्य आदि का व्यवसाय कर सकते हैं।

शिक्षा, सलाहकारिता का व्यवसाय

यदि आप जमीन से जुड़ा या ठेकेदारी से जुड़ा व्यवसाय करना चाहते हैं तो आपको पहले कुंडली में स्थित अपने मंगल की स्थिति देखना होगी। क्योंकि इस व्यवसाय का मुख्य ग्रह मंगल है। अगर आपका मंगल ही यह कमजोर होगा तो व्यवसाय डूब सकता है।

शिक्षा, सलाहकारिता का व्यवसाय

बुध, बृहस्पति और शुक्र बुद्धि के कारक ग्रह होते हैं अतः इस तरह के व्यवसाय के लिए कुंडली में स्तित बुध, बृहस्पति और शुक्र की स्थिति देखना होगी। पर मुख्य रूप से इस व्यवसाय के लिए बृहस्पति की स्थिति देखना चाहिए।

लोहे, कोयले या पेट्रोल का व्यवसाय

लोहे, कोयले या पेट्रोल का व्यवसाय शनि से जुड़ा होता है और कुछ हद तक मंगल से भी यह व्यवसाय जुड़ा होता है। इसलिए इस तरह के कोई भी व्यवसाय करने के लिए कुंडली में शनि और मंगल की स्थिति देखना आवश्यक है।यदि आप इनमें से जुड़े कोई बी व्यवसाय करने का सोच रहे हैं या शुरू करने जा रहे हैं तो एक बार अपनी कुंडली के ग3हों की स्थिति को जान लीजिए। यह आपके व्यवसाय और आपके भविष्य के लिए अत्यंत आवश्यक है। इससे आपको कीफी हद तक राहत मिलेगी।